Saturday, September 8, 2018

लिपस्टिक चिपचिप लगती है

क्या होता है कोई स्त्री मन जब भक्ति में जगता है
लिपस्टिक चिपचिप लगती है और काजल भारी लगता है

* पेशे में रोबाट बना, राहत दी बेकारी भी दी
एक हाथ से दाना छीनूं दूजे पंछी चुगता है

* जब जब जी करता है तोड़ दूं आज तो सारे बन्धन ही
सामाजिक जीवन है ज़रूरी कह कह मुझको ठगता है


* नींद में जब अवचेतन जागे स्वप्न उसे तुम कहते हो
आंख खुले तो असली जीवन दिवास्वप्न सा लगता है

RC
Sep 8, 2018

No comments:

Creative Commons License Do not copy!